घर से एक साथ निकली 5 लोगों की अर्थियां, बिजनेसमैन ने उठाई बंदूक और किया ऐसा काम

चामराजनगर जिले के गुंडलूपेट में शुक्रवार को तड़के खुद को गोली मारने से पहले एक व्यक्ति ने कथित तौर पर

Read more

कश्मीर घाटी में सोमवार से खुलेंगे स्कूल और दफ्तर: सूत्र

जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद से घाटी में लगातार सुरक्षा मुस्तैद है. हालात पूरी तरह शांतिपूर्ण हैं.

Read more

ऋषिकेश की ब्रह्माकुमारी बहनों द्वारा विभिन्न संस्था में जाकर राखी के पावन पर्व पर ….

हर वर्ष की भांति इस वर्ष भी प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय , गीता नगर गली नंबर 2 ऋषिकेश की ब्रह्माकुमारी

Read more

जज की पत्नी और बेटे की हत्या मामला : 31 अगस्त को होगा ये काम

अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायाधीश कृष्णकांत की पत्नी और बेटे की सरकारी गनर द्वारा गोली मारकर हत्या किए जाने के

Read more

तिंवरी गांव में प्रेम प्रसंग के चलते एक युवक ने कार से कुचलकर प्रेमिका व उसकी मां की हत्या कर दी

जोधपुर. मथानिया थानान्तर्गत तिंवरी गांव में प्रेम प्रसंग के चलते एक युवक ने कार से कुचलकर प्रेमिका व उसकी मां

Read more

आखिर दुनिया ने बोली भारत की भाषा, मसूद अजहर अंतरराष्ट्रीय आतंकी घोषित

मसूद अजहर ने पुलवामा, पठानकोट जैसे हमलों की साजिश रची थी, उसे कंधार प्लेन हाईजैक मामले में छोड़ा गया था

Read more

वाराणसी से तेज बहादुर यादव का नामांकन रद्द…….

वाराणसी के ज़िला निर्वाचन कार्यालय ने सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ़) के पूर्व जवान तेज बहादुर यादव का वाराणसी लोक सभा

Read more

एचसीएल फाउंडेशन का सीएसआर प्रोजेक्ट 900 घरों को लगातार बिजली देने के लिए इन ग्रिड्स के रखरखाव में हर साल 3 करोड़ रु. का अतिरिक्त निवेश करेगा

देहरादून – 30 अप्रैल, 2019 – एचसीएल फाउंडेशन के महत्वाकांक्षी सीएसआर प्रोजेक्ट, समुदाय ने यूपी के हरदोई जिले के 15 गांवों में 14 सोलर मिनी ग्रिड की स्थापना के लिए पिछले एक साल में 30 करोड़ रु. से ज्यादा का निवेश किया है। इस निवेशका उद्देश्य 900 ग्रामीण घरों को लगातार बिजली उपलब्ध कराना है। संगठन इन ग्रिड्स के रखरखाव के लिए अगले पाँच सालों तक हर साल 3 करोड़ रु. भी खर्च करेगा। भारत में बिजली की कमी को पूरा करने के लिए सौर ऊर्जा का उपयोग करने के तरीकों पर एक राउंड टेबल वार्ता में बोलते हुए एचसीएल समुदाय के एसोशिएट प्रोजेक्ट डायरेक्टर, आलोक वर्मा ने मिनी-ग्रिड्स प्रोजेक्ट के विवरण दिए। उन्होंने कहा,‘‘एचसीएल समुदाय उत्तर प्रदेश सरकार के सहयोग से हरदोई जिले के तीन ब्लॉक्स – कछौना, बहंदर और कोठावन में सौर बिजलीकरण कार्यक्रम पर काम कर रहा ह.हमारा विश्वास है कि 15 गांवों में हमारे सौर पॉवर प्रोजेक्टों में गरीब पृष्ठभूमि के हजारों लोगोंकी जिंदगी में परिवर्तन लाने की सामर्थ्य है। सौर ऊर्जा के क्षेत्र में हमारे प्रयास भारत सरकार के इस विज़न के अनुरूप हैं कि देश की 40 प्रतिशत जरूरतें रिन्यूएबल संसाधनों से पूरी की जानी चाहिए। आलोक वर्मा ने कहा, ‘‘एचसीएल समुदाय में हमारा मानना है कि सुविधाओं से वंचित रहने वाले गांवों में सौर ऊर्जा पहुंचाकर हम अनेक संबंधित क्षेत्रों में भी गहरा प्रभाव डाल सकते हैं। इसमें स्वास्थ्य सुविधाओं और शैक्षिक संस्थानों के कार्य में सुधार, अंडरग्राउंड पाईप्स ठीक कर पेयजल उपलब्ध कराना, मिनी वॉटर पंपों को बिजली देकर कृषि में सहयोग और प्रोसेसिंग एवं रेफ्रिजरेशन सिस्टम को बिजली प्रदान करके मछली पालन, दूध उत्पादन आदि के माध्यम से आजीविका के साधन बढ़ाना शामिल है।’’ एचसीएल फाउंडेशन द्वारा आयोजित इस राउंडटेबल में भारत के रिन्यूएबल एनर्जी सेक्टर में काम करने वाले 70 से ज्यादा हाई-प्रोफाईल हितधारकों ने हिस्सा लिया, जिनमें डालमिया भारत फाउंडेशन के सीईओ, श्री विशाल भारद्वाज; श्नीदर इलेक्ट्रिक इंडियाफाउंडेशन के सीओओ, श्री अभिमन्यु साहू; सरल ऊर्जा नेपाल प्राइवेट लिमिटेड के मैनेजिंग डायरेक्टर, श्री बिशाल थापा; मार्ट के संस्थापक, श्री प्रदीप कश्यप; स्मार्ट पॉवर इंडिया के डायरेक्टर- प्रोग्राम इंप्लीमेंटेशन, श्री समित मित्रा और क्लैरो एनर्जी के को-फाउंडर एवं डायरेक्टर, श्री गौरव कुमार शामिल हैं। इस राउंडटेबल में जिन मुख्य समस्याओं पर वार्ता की गई, उनमें भारत में ऊर्जा के संकट का समाधान करने के लिए सतत बिज़नेस मॉडल की स्थापना, स्थानीय समुदायों के बीच उद्यमशीलता के दृष्टिकोण का विकास, ताकि वो विस्तार कर बिना किसी बाहरीमदद के सौर ग्रिड चला सकें और आर्थिक विकास को बढ़ावा देने के लिए एक परिवेश का निर्माण शामिल हैं। वक्ताओं ने जमीनी स्तर पर काम करने के अपने अनुभव बताए तथा कॉर्पोरेट, सरकार एवं नॉन-प्रॉफिट संगठनों के बीच सहयोग से सौर बिजलीकरणके कार्यक्रमों को मजबूत करने के तरीकों पर चर्चा की। एचसीएल फाउंडेशन के समुदाय प्रोजेक्ट का उद्देश्य छः मापदंडों पर केंद्रित होकर हरदोई में मॉडल ग्राम का विकास करना है। ये छः मापदंड हैं – बुनियादी ढांचा, कृषि की विधियां, आजीविका, वॉश (वाटर, सैनिटेशन एवं हाईज़ीन), स्वास्थ्य एवं शिक्षा। सौरबिजलीकरण कार्यक्रम इस प्रोजेक्ट के तहत समुदाय द्वारा चलाया गया एक बड़ा अभियान है। इसका उद्देश्य गांवों में, खासकर स्वास्थ्य केंद्रों और स्कूलों में बिजली की निरंतर आपूर्ति सुनिश्चित करना है। एचसीएल समुदाय के बारे में एचसीएल समुदाय की स्थापना 2014 में की गई। यह एचसीएल फाउंडेशन का एक प्रयास है, जिसका उद्देश्य एक सतत, स्केलेबल एवं दोहराने योग्य मॉडल का विकास करना है – ऐसा मॉडल, जो ग्रामीण क्षेत्रों में आर्थिक व सामाजिक विकास के लिए एकसोर्स कोड बने। वर्तमान में यह छः सेक्टरों – कृषि, शिक्षा, स्वास्थ्य, बुनियादी ढांचा, आजीविका एवं वॉटर, सैनिटेशन और हाईज़ीन (वॉश), में राज्य सरकार, ग्रामीण समुदायों, एनजीओ, शैक्षिक संस्थानों और सहयोगी संस्थानों की मदद से किया जा रहा है। इसप्रोजेक्ट का उद्देश्य उपरोक्त वर्णित छः सेक्टरों में चयनित किए गए गांवों में अथक प्रयासों द्वारा ग्रामीण भारत के उत्थान के लिए विकास के सतत मॉडलों की पहचान व निर्माण करना है।

Read more

7 मई से गंगोत्री धाम से होगा चारधाम यात्रा का आगाज, स्थानीय व्यापारियों ने दुकानों का मरम्मत कार्य किया शुरू…..

उत्तरकाशीः उत्तराखंड में चारधाम यात्रा की शुरुआत गंगोत्री धाम से होने जा रही है। गंगोत्री धाम के कपाट 7 मई

Read more

उमा भारती के गले लगकर रोईं प्रज्ञा, कहा- संन्यासी कभी एक-दूसरे से नाराज नहीं होते

*दोनों के बीच तनाव की खबरें थीं, *अब प्रज्ञा ने कहा- कुछ बातें राजनीतिक प्रपंच के लिए बना ली जाती

Read more