ध्रुव मोहिते ने अपनी पहली इंडियन टूरिंग कार चैंपियनशिप में फॉक्सवैगन वेंटो को चलाया

21 वर्ष की आयु के साथ ध्रुव सबसे युवा आइटीसी चैंपियन हैं

ध्रुव फॉक्सवैगन के ड्राइवर एक्सचेंज कार्यक्रम के तहत फाल्कन पोलो कप में हिस्सा लेने के लिए जल्द ही दक्षिण अफ्रीका जाएंगे।

देहरादून, 28 सितंबर, 2019 – फॉक्सवैगन मोटरस्पोर्ट इंडिया ने इस साल पहली बार पुणे कारखाने में विकसित कार के साथ एमआरएफ एमएमएससी एफएमएससीआई इंडियन नेशनल कार रेसिंग चैंपियनशिप में आईटीसी श्रेणी में प्रवेश किया। फॉक्सवैगन की प्रीमियम वन-मेक सीरीज के पूर्व विजेता कार्तिक थारानी, इशान दोधीवाला और ध्रुव मोहिते ने फैक्ट्री द्वारा समर्थित एक टीम के तौर पर हिस्सा लिया और पूरे सीजन में फॉक्सवैगन वेंटो आईटीसी को ड्राइव किया। फॉक्सवैगन के पास मेहमान ड्राइवर आदित्य पटेल और डेनियल रो भी थे जिन्होंने राउंड 3 और राउंड 4 में अपनी उपस्थिति दर्ज कराई।

इस सीजन की शुरुआत बेहतरीन तरीके से हुई। फॉक्सवैगन वेंटो कारों ने सात पोडियम फिनिश अपने नाम कीं। इनमें जून 2019 में कोयंबटूर में कारी मोटर स्पीडवे में पहले रेस वीकेंड में तीन जीत शामिल हैं। टीम ने राउंड 2 में दो और राउंड 3 में 6 पोडियम फिनिश हासिल किए। सीजन फिनाले का आयोजन हाल में चेन्नई के मद्रास मोटर रेस ट्रैक पर किया गया जहां वेंटो ने चार पोडियम फिनिश दर्ज कीं।

अपनी बेहद सतत ड्राइविंग के जरिए ध्रुव ने सीजन में दो जीत और पांच पोडियम प्राप्त किए। उन्होंने आखिरकार सीजन की अंतिम रेस में खिताब अपने नाम करने में सफलता हासिल की। 21 वर्ष की आयु के साथ ध्रुव सबसे युवा आइटीसी चैंपियन हैं। पूरे सीजन में ध्रुव के समर्पण और टीम के तकनीकी विकास ने उन्हें आईटीसी प्रतियोगिता के खिताब का योग्य दावेदार बनाया। खासकर उन परिस्थितियों में जहां ग्रिड में दूसरी टीमों से कड़ी टक्कर मिल रही थी। 21 वर्षीय विजेता मोटरस्पोर्ट से 15 साल से जुड़ा हुआ है और पिछले तीन सालों से वह फॉक्सवैगन मोटरस्पोर्ट परिवास का सक्रिय हिस्सा है। ध्रुव ने 2017 में फॉक्सवैगन वन-मेक सीरीज में तीसरा स्थान प्राप्त किया था और एमियो कप 2018 के चैंपियन भी रह चुके हैं।

फॉक्सवैगन मोटरस्पोर्ट इंडिया ने आईटीसी श्रेणी में हिस्सा लेने और ऐसी कार विकसित करने के विचार के साथ कदम रखा था जिन्हें निजी टीमें खरीद सकती हों। हमारा लक्ष्य ऐसे प्रतियोगिता जिताने वाले मजबूत प्रतिभागी को तैयार करना था जिसका प्रदर्शन और विश्वसनीयता उच्च हो। पांच अलग-अलग ड्राइवर्सदृ कार्तिक थारानी, इशान दोधीवाला, ध्रुव मोहिते, आदित्य पटेल और डेनियल रो ने आईटीसी सीजन के दौरान वेंटो चलाई। ड्राइवर्स की अलग-अलग ड्राइविंग स्टाइल के माध्यम से फॉक्सवैगन मोटरस्पोर्ट इंडिया ने महत्वपूर्ण आंकड़े जुटाए हैं जिनकी मदद से कारों का आगे विकास किया जा सकेगा।

अपनी जीत के बारे में ड्राइवर ध्रुव मोहिते ने कहा, “दो सालों में एक के बाद एक लगातार दो खिताब पाने के साथ चैंपियन के रूप में सम्मानित होकर बहुत ही अच्छा महसूस हो रहा है। मैं फॉक्सवैगन मोटरस्पोर्ट इंडिया का बहुत-बहुत धन्यवाद करता हूं कि उन्होंने मुझे आईटीसी चैंपियनशिप में फॉक्सवैगन वेंटो चलाने का मौका दिया। मैं इस प्रतिष्ठित खिताब को जीतने वाला पहला मराठी बनकर वाकई सम्मानित महसूस कर रहा हूं। मैं अपने दो साथी ड्राइवरों-  कार्तिक थारानी और इशान दोधीवाला को पूरे सीजन के दौरान उनके व्यापक सहयोग के लिए भी धन्यवाद देना चाहता हूं।”

ध्रुव फॉक्सवैगन के ड्राइवर एक्सचेंज कार्यक्रम के तहत फाल्कन पोलो कप में हिस्सा लेने के लिए जल्द ही दक्षिण अफ्रीका जाएंगे।

इस अवसर पर श्री सिरीश वीसा, फॉक्सवैगन मोटरस्पोर्ट इंडिया के प्रमुख ने कहा, “फॉक्सवैगन में हम सबके लिए यह एक गर्व का विषय है कि हम कारखाने में निर्मित कार के साथ आईटीसी में प्रतिभागिता के पहले ही वर्ष में विजेता बने हैं। फॉक्सवैगन को ध्रुव मोहिते पर अत्यधिक गर्व है कि वे इस चैंपियनशिप को जीतने वाले सबसे युवा ड्राइवर बने। मैं अपनी तकनीकी टीम के सदस्यों, इंजीनियरों और टीम के दो ड्राइवरों कार्तिक थारानी और इशान दोधीवाला को सीजन के दौरान उनके सक्रिय सहयोग के लिए भी धन्यवाद देना चाहता हूं। मैं आदित्य पटेल और डेनियल रो को इस कार को विकसित करने में अपने अनुभव उपलब्ध कराने के लिए धन्यवाद देता हूं। हम आगामी सीजन में भी निजी टीमों के लिए बेहद प्रतिस्पर्धी कारों को विकसित करना जारी रखेंगे।”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *