इलाहाबाद हाईकोर्ट (Allahabad High Court) ने यूपी पुलिस की दरोगा भर्ती 2016 (UP Police Sub Inspector Recruitment 2016) का चयन परिणाम रद्द कर दिया है. हाईकोर्ट ने मामले में नए सिरे से चयन सूची जारी करने का आदेश दिया

प्रयागराज. इलाहाबाद हाईकोर्ट (Allahabad High Court) ने यूपी पुलिस की दरोगा भर्ती 2016 (UP Police Sub Inspector Recruitment 2016) का चयन परिणाम रद्द कर दिया है. हाईकोर्ट ने मामले में नए सिरे से चयन सूची जारी करने का आदेश दिया है. हाईकोर्ट ने सेलेक्ट लिस्ट को यूपी सब इंस्पेक्टर, इंस्पेक्टर सर्विस रूल 2015 के विपरीत बताया है.

बता दें पुलिस भर्ती बोर्ड ने 28 फरवरी, 2019 को सेलेक्ट लिस्ट जारी की थी. इस लिस्ट में 2181 अभ्यर्थियों को चयनित घोषित किया गया था. वहीं 967 अभ्यर्थियों को नॉन सलेक्टेड करार दिया था. इसके अलावा बोर्ड ने 3266 अभ्यर्थियों को लिखित परीक्षा में फेल बताया था.

इसके बाद लिखित परीक्षा में फेल अभ्यर्थियों ने सेलेक्ट लिस्ट को इलाहाबाद हाईकोर्ट में चुनौती दी थी. अतुल कुमार द्विवेदी व अन्य सहित कई याचिकाएं इलाहाबाद हाईकोर्ट में दाखिल की गई थीं. मामले में सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर इलाहाबाद हाईकोर्ट सुनवाई कर रही थी. जस्टिस सुनीता अग्रवाल और जस्टिस सुनीत कुमार की खंडपीठ ने ये आदेश दिया है. बता दें इस भर्ती का विज्ञापन 17 जून 2016 को 2707 पदों के लिए जारी हुआ था.
अगस्त में हाईकोर्ट ने एक अभ्यर्थी को दी थी राहत


बता दें  अगस्त महीने में ही इसी दरोगा भर्ती 2016 के एक अभ्यर्थी शोभित प्रजापति को हाईकोर्ट से राहत मिली थी. हाईकोर्ट ने उसको मेडिकल टेस्ट के आधार पर फेल करने का आदेश रद्द कर दिया. कोर्ट ने कहा कि मेडिकल टेस्ट के आधार पर अभ्यर्थी को फेल नहीं माना जाएगा. लिखित, साक्षात्कार और शारीरिक दक्षता परीक्षा उत्तीर्ण अभ्यर्थी को मेडिकल टेस्ट के आधार पर फेल नहीं किया जा सकता. भानू प्रताप राजपूत केस में दिये फैसले का हवाला देते हुए कोर्ट ने आदेश दिया.

कोर्ट ने पुलिस भर्ती बोर्ड को याची की नियुक्ति पर नये सिरे से विचार कर निर्णय लेने का आदेश दिया. इस मामले में शोभित प्रजापति ने याचिका दाखिल की थी. जस्टिस अश्विनी कुमार मिश्र की एकलपीठ ने आदेश दिया. बता दें कि यूपी पुलिस में दरोगा के 3307 पदों पर भर्ती का अंतिम परिणाम 28 फरवरी 2019 को जारी किया था. इस पदों के लिए भर्ती प्रक्रिया 17 जून 2016 को शुरू हुई थी. इनमें से 2400 पद पुरुष और 600 महिलाओं के लिए अरक्षित थे. इनके अलावा 210 पद प्लाटून कमांडर पीएसी और 97 पद अग्निशमन द्वितीय अधिकारी के थे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *