जम्मू-कश्मीर के नौशेरा सेक्टर में पाकिस्तान की ओर से छोटे हथियारों और मोर्टार से फायरिंग, सेना ने भी दिया जवाब

जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने के बाद से पाकिस्तान बुरी तरह से बौखलाया हुआ है.  सीमा पार से लगातार उसकी हरकतें जारी हैं. जम्मू-कश्मीर के नौशेरा सेक्टर में सुबह 6.30 बजे से पाकिस्तान की सेना की ओर से छोटे हथियारों से लेकर मोर्टार से की फायरिंग की गई.

नई दिल्ली: 

जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने के बाद से पाकिस्तान बुरी तरह से बौखलाया हुआ है.  सीमा पार से लगातार उसकी हरकतें जारी हैं. जम्मू-कश्मीर के नौशेरा सेक्टर में सुबह 6.30 बजे से पाकिस्तान की सेना की ओर से छोटे हथियारों से लेकर मोर्टार से की फायरिंग की गई. वहीं भारतीय सेना ने भी इसका मुंहतोड़ जवाब दिया है. आपको बता दें कि जम्मू- कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाये जाने के बाद से दोनों देशों के बीच तनातनी बढ़ गई है. सीमा के आसपास आतंकवादियों की हरकतें बढ़ गई हैं. पाकिस्तान की पूरी कोशिश  कर रहा है कि किसी तरह से आतंकवादियों को भारतीय सीमा में प्रवेश करा दिया जाए लेकिन भारतीय सेना ने भी इस समय जबरदस्त चौकसी बरत रही है.

वहीं पाकिस्तान अंतरराष्ट्रीय मंचों पर भी जम्मू-कश्मीर के मुद्दे को उठाने की कोशिश कर रहा है. उसने संयुक्त राष्ट्र की सुरक्षा परिषद में भी इस मुद्दे को ले जाने की कोशिश की और इसके लिए उनसे चीन का सहारा लिया लेकिन उसको कोई खास समर्थन नहीं मिला है. इसी बीच  भारत ने भी दो टूक कह दिया है कि कश्मीर उसका अंदरूनी मामला है और इसमें कोई बाहरी दख़ल उसे मंज़ूर नहीं होगा. ये बात संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी प्रतिनिधि सैयद अकबरुद्दीन ने कही. वो संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के सदस्यों के बीच कश्मीर मुद्दे पर हुई अनौपचारिक चर्चा के बाद प्रतिक्रिया दे रहे थे. अकबरुद्दीन ने पाकिस्तान को नसीहत दी कि आतंकवाद को ख़त्म किए बिना बातचीत नहीं होगी. साथ ही उन्होंने कहा कि कश्मीर में पाबंदियां हट रही हैं. इस प्रेस कॉन्फ़्रेंस के दौरान जब पाकिस्तान के पत्रकारों ने अकबरुद्दीन से सवाल पूछा कि अब भारत और पाकिस्तान के बीच द्विपक्षीय वार्ता कब शुरू होगी तो अकबरुद्दीन अपने मंच से उतरे और उन्होंने पाकिस्तान के  पत्रकारों से जाकर हाथ मिलाते हुए कहा कि ये भारत की ओर से पहल है.

वहीं अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद से कश्मीर घाटी में लगाई गई कई पाबंदियां हटाई गई हैं और कई धीरे-धीरे हटाई जाएंगी, ये कहना है कि जम्मू-कश्मीर के प्रधान सचिव रोहित कंसल का. उन्होंने आज श्रीनगर में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर हालात की जानकारी दी. कंसल ने  कहा कि अभी कश्मीर घाटी में आधे आज लैंडलाइन फ़ोन शुरू हो गए हैं और आधे कल शुरू हो जाएंगे. कुल मिलाकर घाटी के 96 टेलीफ़ोन एक्सचेंज में से 17 आज काम करना शुरू कर दिए हैं. साथ ही उन्होंने कहा कि कल से घाटी के स्कूल भी खोले जा रहे हैं जो प्राइमरी स्कूलों से शुरू होकर सेकेन्ड्री स्कूल तक खोले जाएंगे. प्रेस कॉन्फ्रेंस में मौज़ूद कश्मीर के आईजी एसपी पाणि ने कहा कि घाटी के 35 इलाकों में छूट दी गई है. साथ ही कहा कि पुलिस हालात पर नज़र बनाए हुए है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *